B.Com Ke Baad Konsa Course Kare?(बी.कॉम के बाद कौनसा कोर्स करे?)

दोस्तों क्या आप लोग जानते हैं कि B.Com Ke Baad Konsa Course Kare? हमारे द्वारा बताए गए इस आर्टिकल को आप पूरा अंत तक जरूर पढ़ें। जिसे बीकॉम के बाद कोर्स से संबंधित पूरी जानकारी हिंदी में प्राप्त कर सकते हैं।

बीकॉम के बाद हमारे द्वारा बताए जा रहे हैं महत्वपूर्ण कोर्स जिसे आप करके अपने जीवन में बेहतरीन कैरियर बना सकते हैं। तो चलिए दोस्तों बीकॉम के बाद कोर्स से संबंधित विस्तार से जानकारी दूंगा।

B.Com Ke Baad Konsa Course Kare?(बी.कॉम के बाद कौनसा कोर्स करे?)

B.Com Ke Baad Konsa Course Kare? (B.Com के बाद कौन सा कोर्स करें ):

1. (M.Com) Master of commerce.
M.Com यह एक बहुत महत्वपूर्ण कोर्स है इस कोर्स को करके आप Post Graduation या फिर Master Degree हासिल कर सकते हैं। M.Com पूरे 2 साल का कोर्स होता है जो बीकॉम के बाद किया जाता है।

M.Comमें एडमिशन के लिए B.Com ग्रेजुएशन में आपका कम से कम 50% होना चाहिए।M.Com में एडमिशन से पहले आपका एंट्रेंस एग्जाम होता है।

लेकिन कुछ कॉलेज ऐसे हैं जो बीकॉम के मेरिट के आधार पर एडमिशन ले लेते हैं।M.Com कोर्स में आपको Economy, Finance, Marketing, Banking, Trade एंव Taxes आदि सब्जेक्ट के बारे में विस्तार से सिखाया जाता है।

2. (CA) Chartered accountant.
आप सभी लोगों में से कुछ लोग chartered accountant का नाम तो सुना ही होगा हम लोग इसे छोटे शब्दों में CA के नाम से जानते हैं। हर कॉमर्स पढ़ने वाले स्टूडेंट का सपना होता है।

मैं भी आगे चलकर भविष्य में एक CA बने क्योंकि CA का सैलरी भी बहुत ही अच्छा होता है और समाज में उन्हें मान सम्मान की नजर से देखा जाता है। CA बनने के लिए सबसे पहले आपको CPT एग्जाम,IPCC एग्जाम उसके बाद CA का फाइनल एग्जाम पास करके आप CA बन सकते हैं।

अगर आप सीधे इसको B.Com बाद करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले IPCC एग्जाम को पास करना होता है। IPCC एग्जाम को पास करने के बाद लगभग 3 साल की Articleship training होती है।उसके बाद आप जाकर CA का फाइनल एग्जाम दे सकते हैं।

अगर जो भी स्टूडेंट CA का फाइनल एग्जाम को पास कर लेते हैं तो institute of Chartered Accountants of India के तरफ से आपको CA के डिग्री के साथ सम्मानित किया जाता है। CA की तैयारी करने के लिए आपको लगभग 3 साल का समय गुजारना पड़ेगा।

3.(MBA) Master of Business Admission.
कॉमर्स वाले स्टूडेंट के लिए MBA का कोर्स काफी अच्छा माना जाता है क्योंकि MBA संबंधित कुछ जानकारी आप पहले से जानते ही होंगे। MBA करने में आपको काफी आसानी होती है।

MBA एक प्रोफेशनल कोर्स है इस कोर्स को करने के लिए आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होना आवश्यक है अगर आप business measurement में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो MBA का कोर्स बेहतरीन माना जाता है।

एमबीए करने के लिए आपको IIM कॉलेज काफी उत्तम एवं अच्छा माना जाता है। MBA करने के लिए आपको सबसे पहले CAT( Common Admission Test) एग्जाम को पास करना होता है।

उसके बाद आपके अंकपत्र की मेरिट के आधार पर कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है अगर जो कॉलेज डायरेक्ट MBA में एडमिशन देती है उसका फीस बहुत ज्यादा होता है और प्लेसमेंट की संभावना भी कम होता है।

4. (CMA)Certified Managment Accountant.
यह सबसे अच्छा कोर्स है इसेे CMA के नाम से जाना जाता है। और इसे Institute of Management Account यानी(IMA) द्वारा संचालित की जाती है। यह कोर्स ग्रेजुएशन के बाद की जाती है।

यहां कोर्स करने में आपको 2 साल से ज्यादा का भी समय लग सकता है।अगर कोई स्टूडेंट मल्टी नेशनल कंपनी में काम करना चाहता है या विदेश की यात्रा करना चाहता है तो CMA का कोर्स काफी अच्छा अपने कैरियर में साबित हो सकता है।

अमेरिका में CMA कोर्स का काफी डिमांड हुआ करता है। यह कोर्स कॉमर्स वाले स्टूडेंट को काफी अच्छा माना जाता है इसलिए स्टूडेंट को B.Com ग्रेजुएशन करने के बाद इस कोर्स को करना चाहिए।

5. (CPA) Certified Public Accountant.
यह कोर्स करने के बाद आपको विदेशों में जॉब मिल जाता है।CPA भी CMA की तरह अंतरराष्ट्रीय स्तर का कोर्स है यानी यह कोर्स करने के बाद आपको विदेश का सफर करना पड़ता है।

इस कोर्स के करने के बाद अगर आपका कहीं विदेशों में जॉब मिल जाता है तो इसका सैलरी CA से भी ज्यादा होती है। अगर आप कहीं मल्टी नेशनल कंपनी या अमेरिका जैसे देशों में काम करना चाहते हैं।

तो आपके लिए यह CPA कोर्स सबसे अच्छा एवं उत्तम माना जाता है इस कोर्स को करके आप आराम से जॉब पा सकते हैं। यह कोर्स को American Institute of Certified Public accountants(AICPA) द्वारा संचालित की जाती है।

CPA एग्जाम में student से 4 सेक्शन से सवाल पूछे जाते हैं इसलिए चारों सेक्शन के सब्जेक्ट की तैयारी अच्छे से कर लेना चाहिए।
1. Auditing and Attestation
2. Business Environment and concepts
3. Financial Accounting and Reporting
4. Regulation

प्रत्येक सेक्शन से 99 नंबर तक का क्वेश्चन पूछा जाता है जिसमें से आपको एक सेक्शन को पास करने के लिए 75 नंबर होना अनिवार्य है। यह एग्जाम पूरे 14 घंटे तक कराई जाती है इससे आप सोच सकते हैं कि सवाल कितने कठिन पूछे जाते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x