दुर्गा सप्तशती संपूर्ण पाठ हिंदी में pdf

दुर्गा सप्तशती संपूर्ण पाठ हिंदी में pdf: दुर्गा सप्तशती पाठ के लाभ, दुर्गा सप्तशती संस्कृत पाठ pdf, दुर्गा सप्तशती संपूर्ण पाठ हिंदी में पीडीएफ डाउनलोड , दुर्गा सप्तशती पाठ 1 अध्याय , दुर्गा सप्तशती पाठ 13 अध्याय, दुर्गा सप्तशती 12 अध्याय संस्कृत pdf.

दुर्गा सप्तशती संपूर्ण पाठ हिंदी में pdf

 

Book Name दुर्गा सप्तशती संपूर्ण पाठ
भाषा  हिन्दी
लेखक रामनारायण दत्त-Ramnarayan Dutt
फार्मेट  PDF
श्रेणी धार्मिक(Religious)

दुर्गा सप्तशती के बारे में:

हिंदू धर्म में नवरात्र और मां दुर्गा का अनूठा महत्व है। नवरात्र की छुट्टी को आराधना का पर्व कहा जाता है। इस दौरान श्रद्धालुओं ने दुर्गा सप्तशती का पाठ किया। दुर्गा सप्तशती में देवी दुर्गा और महिषासुर की युद्ध को दर्शाता है, जिससे राक्षस परास्त होकर धारा को उसके अपराधों से मुक्ति मिलती है। प्राचीन काल में ऋषि मारकंडेय द्वारा लिखे गए मार्कण्डेय पुराण में दुर्गा सप्तशती, देवी महात्म्य और चंडी पथ शामिल हैं। नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके, आप जल्दी से इस पुस्तक का पीडीएफ संस्करण डाउनलोड कर सकते हैं।

दुर्गा सप्तशती पाठ के लाभ:

  • दुर्गा सप्तशती के पाठ से रोग, शोक और संकट से मुक्ति मिलती है।
  • पुराणों के अनुसार दुर्गा सप्तशती पढ़ने से सभी संकटों से मुक्ति मिल सकती है। इस पाठ में 13 अध्याय हैं और इसे तीन भागों में बांटा गया है।
  • नियमों के अनुसार दुर्गा सप्तशती का ध्यान से एक दिन में पाठ करना चाहिए। अगर दोबारा समय नहीं बीता तो सीक्वेंस के हिसाब से सात दिन में पाठ पूरा किया जा सकता है।
  • इस पाठ से शांति, सुख, समृद्धि, यश और सम्मान में वृद्धि होती है। विभिन्न अध्याय पाठ विभिन्न इच्छाओं को पूरा करते हैं।
  • दुर्गा सप्तशती का पहला अध्याय पढ़ने से विचारों से राहत मिलती है। मन प्रसन्न रहता है।
  • दूसरी रीडिंग में उन्हें लॉ-कोर्ट केस से बरी कर दिया गया ।
  • अध्याय-3 सबक ने विपक्ष और दुश्मनों को बख्शा ।
  • चौथा अध्याय पढ़ने से दुर्गा का आशीर्वाद प्राप्त होता है और सभी दुखों से मुक्ति मिलती है।
  • अध्याय 5 के वाचन से दभुजा प्रसन्न हुई।
  • अध्याय VI पढ़ने से भय, भय, बुराई से मुक्ति मिलती है। यह सबक उन लोगों के लिए उपयोगी है जो किसी कारण से डरते हैं।
  • किसी को विशेष इच्छाओं को पूरा करने के लिए दुर्गा सप्तशती के सातवें अध्याय का पाठ करना चाहिए ।
  • फिर, अध्याय आठवीं पढ़ने से शादी की सभी समस्याएं दूर हो जाते हैं । इससे जीवन साथी के मन में ललक हो जाता है।
  • पाठ 9 सुखी संतान प्राप्त करने के लिए या किसी अलग हुए रिश्तेदार के साथ संबंध स्थापित करने के लिए उपयोगी है।
  • अध्याय 10 पढ़ने से रोग और शोक से राहत मिलती है।
  • अध्याय 11 पढ़ने से सुख और शांति मिलती है। यहां तक कि व्यापार में लाभ भी है।
  • दुर्गा सप्तशती के 12वें अध्याय से समाज की प्रतिष्ठा बढ़ती है। सुख-संपत्ति की प्राप्ति हो सकती है।
  • अध्याय 13 के वाचन से दुर्गा प्रसन्न हुई और उनका आशीर्वाद प्राप्त हुआ।

दुर्गा सप्तशती पाठ के नियम:

दुर्गा सप्तशती के पाठ में आपको कुछ विशेष नियमों का ध्यान देना बहुत आवश्यक होता है :

पहला नियम है सप्तशती के पाठ से पहले गणपति पूजन कलश पूजन नवग्रह पूजन और जूती पूजन करना अनिवार्य होता है तो जब भी सप्तशती का पाठ करें यह कार्य आपको अवश्य करना है

दुर्गा सप्तशती पाठ करने की विधि:

दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से पहले हमे कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए।
सबसे पहले कलश स्थापना करनी चाहिए फिर माँ दर्गा की विधि विधान से पूजन करे उनके सामने घी का दीपक जलाये ।

दुर्गा सप्तशती की पुस्तक को आसन पर लाल कपड़ा बिछा कर रखे। दुर्गा सप्तशती के पाठ में कवच , अर्गला,किलक स्तोत्र को भी शामिल करना चाहिए।

अगर आप दर्गा सप्तशती का पाठ एक दिन में नहीं कर पा रहे है तो एक-एक दो-दो अध्याय का पाठ करे। नवरात्र के आखरी में कन्या पूजन हवन भी करना चाहिए।

दुर्गा सप्तशती 700 श्लोको का संग्रह है इसमे 13 अध्याय और 3 चरित्र है-  प्रथम चरित्र, मध्यम चरित्र और उत्तम चरित्र।

प्रथम चरित्र में महाकाली का बीजाक्षर रूप ऊँ ‘एं है। मध्यम चरित्र में महालक्ष्मी का बीजाक्षर रूप ही है। उत्तम चरित्र महासरस्वती का बीजाक्षर रूप ‘क्लीं’ है।

दुर्गा सप्तशती के पाठ को उत्तम प्रथम और मध्यम क्रम से पढ़ने से शत्रु नाश होता है और महा लक्ष्मी की कृपा होती है। इसे महा तंत्री क्रम कहते है।

अगर आप दुर्गा सप्तशती का पाठ नहीं कर पा रहे है तो आप ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे नमः मंत्र का 108 बार पूरे नवरात्र जप करे।

दुर्गा सप्तशती के पाठ को करने के बाद क्षमा प्रार्थना जरूर करनी चाहिए। दुर्गा सप्तशती पाठ का सही उच्चारण करना चाहिए। अगर आप संस्कृत में पाठ नहीं पढ़ पा रहे है तो यह पाठ आप हिंदी में भी पाठ पढ़ सकते है। पाठ हमेशा धीरे से करे।

Download Link- 1

Download Link -2

 

Check also more PDF:

Hanuman Chalisa Lyrics PDF in Telugu Free Download

Think & Grow Rich(English Version) Free PDF Book Download

xnxnxnxn cube algorithms pdf Solving Rubik’s Cubes

The Power of Positive Thinking Bengali PDF Book Download

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x